google.com, pub-5942053480632440, DIRECT, f08c47fec0942fa0 google.com, pub-5942053480632440, DIRECT, f08c47fec0942fa0 Keyword क्या होता है और ये SEO के लिए क्यों ज़रूरी है?

Keyword क्या होता है और ये SEO के लिए क्यों ज़रूरी है?

 Keyword क्या होता है और ये SEO के लिए क्यों ज़रूरी है?

इस आर्टिकल में आपको Keyword क्या होता है और ये Website के SEO के लिए क्यों ज़रूरी है की पूरी जानकारी मिलेगी. आप यहाँ ये भी सीखेंगे की Keyword कितने प्रकार के होते है और ये कब और कहा यूज़ करते है.

Keyword क्या होता है – What Are Keyword In Hindi?

Keyword वो शब्दPhrases और Sentences होते है जिनकी Help से आप Google या अन्य Search Engines पर कुछ ढूंढते है. कहने का मतलब ये है की वो Words जिसे हम Google में Search करने के लिए लिखते है उन्हें Keyword कहते है.

Website Owners और SEO Professionals इन Keywords का यूज़ Website को Optimize करने के लिए करते है ताकि Search Result में Top Ranking मिल सके.

इन Keywords को “SEO Keywords” और “Keyphrases” भी कहते है.

Keyword क्या होता है ये तो हमने जान लिया चलिए अब देखते है SEO के लिए Keyword क्यों ज़रूरी है. ताकि हम Website को अच्छे से SEO Optimize कर सकते.

SEO के लिए Keyword क्यों ज़रूरी है?

Website और Blog को SEO Optimize करने के लिए Keyword बहुत ज़रूरी होता है, जब भी कोई User कोई Query Search करता है तो Google और बाकी Search Engines Best Result Show करते है. Best Result देने के लिए Search Engines कुछ Factors का यूज़ करते है. Keyword भी इन Factors में से एक है.

इसके लिए Search Engines Websites के Content को Analyze करते है और Best Match Websites को Top Ranking देते है. Serp में Ranking जितनी High होगी Website पर Organic Traffic भी उतना ही ज्यादा आयगा.

Keywords की Help से आप Visitor और Search Engine को अपनी Website के Content की जानकारी देते है ताकि उसे पता चले की Content किस बारे में है.

पहले Search Engines Websites की कुछ ख़ास जगहों जैसे HeadingsMeta Descriptions, Meta Tags, URL’s आदि से ही Keyword की पहचान करते थे लेकिन आजकल Search Engines के Algorithms इतने Advanced हो गये है की वो Keywords को Auto Detect करते है.

लेकिन इसके लिए Keywords को Website में Add करना होगा. बिना Keywords के SEO करना बहुत मुश्किल है क्युकी बिना Keywords के Search Engines को Content के बारे में कोई Hint नही मिलेगा और वो इसे Targeted Keywords पर Rank नही करा पायगा.

हमेशा Keyword Content में यूज़ करने से पहले Keyword Research करना चाहिए ताकि User Intent को समझा जा सके और अपने Visitor को Best Value मिले.

अब आपको SEO के लिए Keyword क्यों ज़रूरी है समझ आ गया होगा. अब देखते है Keyword कितने प्रकार के होते है.

अच्छे Keyword की क्या Qualities होती है?

 अच्छे Keyword की Main qualities निम्नलिखित है

  • Search volume : Keyword का Search Volume High होना चाहिए. लेकिन ऐसे Keyword पर Rank करना बहुत Difficult होता है.
  • Competition : हमेशा Low Competition Keyword Target करना चाहिए.
  • Price (cost per click) : High Conversion Rate और Profit के हिसाब से ही Keywords का चुनाव करे.
  • Word count : Long Tail Keywords को Target करे.
  • User Intent : User के Intent को Fulfill करने वाला Content बनाये और Keyword को टारगेट करे.

Keyword के प्रकार – Types Of Keyword In Hindi

Keyword के प्रकार को अच्छे से समझने के लिए हमने Keyword को 5 Category में बांटा है. चलिए अब विस्तार से इसके बारे में समझते है.

1. Length के आधार पर Keyword के प्रकार

Website के SEO के लिए सबसे ज्यादा इसी प्रकार के Keywords का यूज़ किया जाता है. ये तीन प्रकार के होते है.

Types of Keyword by length

Short Tail Keyword – Generic Keywords

Short Tail Keyword वो Search Queries होते है जो 1 या 2 Word के होते है. इन Keywords पर High Traffic होता है और इन Keywords पर Competition बहुत High होता है. इसे Broad Keywords या Generic Keywords भी कहते है.

चलिए अब Short Tail Keyword के कुछ Examples देख लेते है ताकि आपको Short Tail Keyword का अंदाज़ा हो जाये.

Example: “Digital Marketing“, “Shoes”, “Ebook Download”.

Tip: अगर आप एक नए Bloggers या Website Owners है तो Short Tail Keyword यूज़ ना करे क्युकी ऐसे Keywords पर बहुत बड़ी बड़ी Websites Rank करती है और High Competition होने की वजह से आपकी New Website Rank नही करेगी.

Mid Tail Keyword

Mid Tail Keyword वो Search Queries होते है जो 2 या 3 Word के होते है. इन Keywords पर High Traffic होता है और इन Keywords पर Competition बहुत High होता है. ये Short Tail Keyword की तुलना में ज्यादा Descriptive होते है.

Example: “Digital Marketing Technique”, “Best Running Shoes”, “Free Ebook Download”.

Long Tail Keyword

Long Tail Keyword वो Search Queries होते है जो 3 Word या उससे ज्यादा बड़े होते है. ये बाकी Keyword की तुलना में ज्यादा Descriptive होते है. इन Keywords पर Low Traffic होता है और इन Keywords पर Competition भी Low होता है. इसलिए इन Keywords पर Easily Rank किया जा सकता है.

ये बहुत ज्यादा Specific Keywords होते है इसलिए इनका Conversion Rate भी Short Tail Keywords और Mid tail Keyword की तुलना में High होता है.

Example: “Best Digital Marketing Technique in Hindi”, “Best Running Shoes Adidas”, “Digital Marketing Free Ebook Download”.

Tip: अगर आप एक नए Bloggers या Website Owners है तो जितना हो सके Long Tail Keyword का यूज़ करे क्युकी ऐसे Keywords पर Websites Easily Rank करती है.


2. On-Site Keywords के प्रकार

On-Site Keywords वो SEO Keywords होते है जो किसी नए Blog Post या Website बनाते समय यूज़ किये जाते है. On-Site Keywords निम्नलिखित है,

Primary Keywords

Primary keyword वो Main Keyword होता है जिसपर किसी Webpage को Target करते है. Website को SEO Optimize करने के लिए Content में Primary Keyword यूज़ करते है. हर Webpage को अलग अलग Primary Keyword यूज़ करते है.

इसकी Help से Search Engines को Signal भेजा जाता है की ये Page किस बारे में है. Primary keywords यूज़ करने से Search Ranking Improve होती है.

Example: इस आर्टिकल में मेरा Primary Keyword “Keyword क्या होता है” है. मैंने अपने आर्टिकल को इसी Keyword के लिए Optimize किया है.

Related या LSI Keywords

Related keywords या LSI keywords (Latent Semantic Keywords) वो Phrases और Words होते है जो Primary Keyword के Similar या पर्यायवाची होते है. इनकी Help से Search Engine को Content को समझने में आसानी होती है. हर Webpage में एक Primary और 3-4 LSI Keywords का यूज़ करना चाहिए.


3. Targeting Keywords के प्रकार

Targeting Keywords वो Terms और Phrases होते है जिनका यूज़ करके आप किसी Specific Industry या Audience को Target करते है. इस Category में निम्नलिखित प्रकार के Keywords होते है.

Market Segment Keywords

Market segment keywords वो generic keywords होते है जो किसी Brand या Industry से जुड़े होते है. ये वो General Search Terms होते है जिनका यूज़ करके उसके Customers किसी ख़ास Product या Information को Search करते है.

Example: “Printing T-Shirts”.

Customer-Defining Keywords

Customer-Defining keywords वो Search Queries होती है जिसमें Customers खुद को Define करने के लिए कुछ ख़ास Words या Phrases का यूज़ करता है. Brands और Industries इन Keywords की पहचान करती है. और इन्हें अपने Keywords में यूज़ करते है.

Example: “Printing T-Shirts for Women”.

सभी Brands अपने Users के Search Query के हिसाब से अपना Marketing Campaign Ready करती है.

Competitor Keywords

ये keywords हमारे Competitor के Brand Name से Related वो Keywords, Products, Business या Services है जिनको Target करके हम अपने Competitor के Customers और Similar Audience को Attract कर सकते है.

या

Competitor keywords वो keywords होते है जिनपर आपके Competitor पहले से Rank कर रहे है. इन Keywords पर Rank करने के लिए आपको भी इन Keywords को अपने Content में यूज़ करना होगा.

Example: Gucci Brand के लिए Competitor Keyword है “Nike T-Shirts”.

Product Keywords

वो Keywords जो किसी ख़ास Product या Brand Product या Services को Target करता है उसे Product keywords कहते है. Product की Marketing Strategy Decide करते समय सभी Brands इस बात का ख़ास ध्यान देते है की वो ऐसे Keywords को Target करे ताकि उनके Customers Product को आसानी से Search कर सके.

Example: “Polo T-Shirts”, “Nike Lower”.

Branded Keywords

ये वो Keywords होते है जिसमे Search query में Brand का नाम या Brand से जुडी जानकारी के आधार पर Search किया जाता है.

इस तरह के Keywords में Brand Name या Brand Name के साथ Product Name या Services लिखकर Search करते है.

Example: “Polo T-Shirts”, “Nike Running Shoes”.

Geo-Targeted Keywords

ये वो Keywords होते है जो किसी ख़ास Location या Near By Location के हिसाब से Area को Target करते है.

Example: “Digital Marketing Near Me”, “Digital Marketing In Delhi”.


Google Ads में इन Keywords का यूज़ करके Targeted Ads Campaigns बनाये जाते है. ये निम्नलिखित प्रकार के होते है.

# Broad Match Keywords

Broad match keywords वो Search Terms होते है जिन्हें हम Google Ads Search Campaign में Target करते है. अगर Google Ads में हम किसी Search Term को Broad Match Keywords select करते है तो Google हमारे Ads को हमारे Keyword के सभी Variations पर भी Show करेगा.

इससे हमारे Keywords से मिलते जुलते Keywords, Singular या Plural form, Misspelling, synonym आदि Keywords पर भी Ads Show होंगी.

Example: मान लेते है हमने “Digital Marketing” को Broad Match Keyword बनाया है. तो हमारी Ads “Digital Marketing Institute”, “Digital Marketing Training”, “Digital Marketing Agency” इस तरह के Keywords पर भी चलेगी.

Phrase Match Keywords

Phrase match keywords का यूज़ करके हम Specific Phrases को Google Ads Search Campaign में टारगेट कर सकते है.

जब किसी Search Term को Phrase Match Keyword की तरह यूज़ करते है तो Google Ads केवल उन Keywords पर ही Ads चलता है जिन Keywords में Phrase Match Keyword होंगे. इन Phrase Match Keyword के आगे पीछे और phrases हो सकते है.

Example: मान लेते है हमने “Digital Marketing” को Phrase Match Keyword बनाया है. तो हमारी Ads “Digital Marketing Institute”, “Online Digital Marketing Training”, “Digital Marketing Agency” इस तरह के Keywords पर भी चलेगी.

Exact Match Keywords

Exact match keywords की Help से Specific Phrases को Google Ads Campaign में Target करते है. जब किसी Search Term को Exact Match की तरह यूज़ करते है tab Google उन Keywords पर Ads Run करता है जो या तो Exact match keywords हो या बहुत Closely Matched Keywords हो.

Example: मान लेते है हमने “Digital Marketing” को Exact Match Keyword बनाया है. तो हमारी Ads “What is Digital Marketing”, “Digital Marketing Training”, “Digital Marketing Agency” इस तरह के Keywords पर भी चलेगी.

Negative Keywords

Negative Keywords वो Terms और Phrases होते है जिसे Google Ads के Search Campaign से बाहर रखते है. वो Keywords जिसे हम अपने Ads Campaign में नही चाहते वो हम Google को बताते है की अगर ये Search Terms अगर किसी Keywords में आते है तो Ads न चले.


5. Buyer Keywords के प्रकार

Buyer Keywords वो Queries और Search Terms होते है जिनका यूज़ करके Visitors कोई Product, Service खरीदते या उसकी जानकारी लेते है. Buyer keywords 3 तरह के होते है. इन तीनो तरह के Keywords का यूज़ करके Purchase Funnel Design की जाती है.

Informational Keywords

Informational Keywords को Know Keywords भी कहते है. ये वो Search Terms होते है जिसका यूज़ करके Searcher कोई Information चाहता है. जब Searcher किसी Product या Service के बारे में कोई जानकारी ढूंढता है तो Informational Keywords का यूज़ करता है.

Brands इस तरह के Informational Keywords को यूज़ करके अपने Product की Awareness को बढाती है.

Example: “What is Digital Marketing”.

Navigational Keywords को Go Keywords भी कहते है. इसका यूज़ कोई यूजर तभी करता है जब यूज़ किसी Specific Brand के Website पर जाना हो.

इस तरह के Keywords का यूज़ करके users अलग अलग Brands को Compare करते है.

Example: “Digital Marketing Institute in Delhi”.

Transactional Keywords

Transactional keywords को Do Keywords भी कहते है. इस तरह के Keywords का यूज़ यूजर तभी करता है जब वो कोई Product या Service खरीदने के लिए तैयार हो जाता है.

Example: “Best Digital Marketing Institute in Delhi”.


LSI Keywords क्या होता है?

LSI (latent semantic indexing) keywords वो Search Terms और Queries होती है जो किसी Targeted Keywords के Similar या Related होते है. इन Keywords का यूज़ करके Search Engines Website के Content को समझने का प्रयास करते है.

LSI कैसे काम करता है?

अगर SEO के term में बात करे तो LSI keywords वो Search Terms होती है जो Main Keywords से Related होते है. ये Content को SEO Friendly बनाने में Help करते है. इनका यूज़ करने से Content और Rich और Informative बनता है.

  • इसकी हेल्प से Search Engines और Visitors दोनों को Content को समझने में मदद मिलती है.
  • ये Search Result में Website की Ranking Improve करने में Help करता है.
  • ये Semantic keywords Content की Relevancy को बढ़ाते है.

LSI Keywords कैसे खोजे?

  1. Google Autocomplete
  2. Google Related Searches
  3. People Also Ask
  4. LSI Graph
  5. Serpstat

Generic Keywords क्या होता है?

Short Tail Keywords को Generic Keywords भी कहते है. इसका Search Volume और Traffic बहुत High होता है.

Keyword Research कैसे करे?

Keyword Research करने के लिए आप निम्नलिखित Steps को फॉलो कर सकते है.

  1. Important और Related Topics की List बनाये.
  2. अब इन Topics से Related कुछ Keywords की List बनाये.
  3. अब इन Keywords को Search Intent के आधार पर Analyze करे.
  4. अपने Keywords से Related Keywords और Keyphrases की List बनाये.
  5. अब Free या Paid SEO Tools की मदद से इन सभी Keywords को Search Volume और Competition के आधार पर फ़िल्टर करे.

Tip: Long Tail Keywords पर ज्यादा ध्यान दे.

Keyword Research करते समय 3 Major Factors का ध्यान ज़रूर रखे.

  1. Relevance
  2. Authority
  3. Volume

Content में Keywords कैसे इस्तेमाल करते हैं?

  • Page Title में Keywords का यूज़ करे.
  • Meta Descriptions में Keywords का यूज़ करे.
  • Subheadings में Keywords का यूज़ करे.
  • Content में Keywords का यूज़ करे. Keywords को शुरु के 200 Words में ज़रूर यूज़ करे .Keywords को Last 200 Words में ज़रूर यूज़ करे.
  • Images के Alt Tags में Keywords का यूज़ करे
  • URL में Keywords का यूज़ करे.
  • Link Anchor Text बनाते समय Keywords का यूज़ करे.

Focus Keyword क्या है?

Focus Keyword वो Main Search Term या Keyphrase होता है जिसपर आप अपने Webpage या Post को Rank करवाना चाहते है.

हर Post या Article में एक Unique और Most Related Focus Keyword लिखना चाहिए. WordPress में Focus Keyword लिखने के लिए आप Rank Math या Yoast SEO Plugins का यूज़ कर सकते है.

Keyword Density क्या होता है

Search Engine Optimization (SEO) में Keyword Optimization करते समय Keyword Density का ध्यान रखना ज़रूरी होता है. Keyword Density हमें बताती है की एक Search Term या Keyword हमारे Content में कितनी बार यूज़ हुआ है उस Ratio को दर्शाती है.

Example: अगर 100 Word के कंटेंट में कोई Keyword 3 बार लिखा गया है तो Keyword Density 3% होगी.

ऐसे तो इसका कोई Fix वैल्यू नही है लेकिन Keyword Density 1-2% से ज्यादा नही होनी चाहिए, अगर ये Density 2% से ज्यादा हुई तो Search Engine इसे Spamming मानेगा और आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को डाउन कर देगा.

Tip: कोशिश करे की 1-2% से ज्यादा Keyword Density का यूज़ न करे.

Keyword Stuffing क्या होता है

Keywords को बार बार Content में यूज़ करना Keyword Stuffing कहलाता है. अगर Keyword Density 2% से ज्यादा होती है तो ये Keyword Stuffing कहलाती है. Internet के शुरुआती दौर में Keyword Stuffing बहुत प्रचलित था, ये Black Hat SEO की Technique मानी जाती है.

लेकिन अगर आज क समय में Keyword Stuffing करने की कोशिश करंगे तो Search Engines Penalty लगा सकते है.

आज आपने क्या सिखा

हमें उम्मीद है आपको हमारा ये आर्टिकल Keyword क्या होता है और ये SEO के लिए क्यों ज़रूरी है ज़रूर पसंद आया होगा. यहाँ हमने Keywords कितने प्रकार के होते है ये भी जाना. इस आर्टिकल को पढने के बाद आपको समझ आ गया होगा की SEO के लिए Keyword क्यों ज़रूरी है.

हमें उम्मीद है की अब आप अच्छे Keyword की क्या Qualities होती है ये जान गये होंगे.

Post a Comment

0 Comments